There was an error in this gadget

Wednesday, August 15, 2012

हम स्वतंत्रता दिवस क्यों मानते हैं

हम स्वतंत्रता दिवस क्यों मानते हैं
जीवन मूल्यों में निर्वाह की कमी का या फिर आधुनिक विचारों की स्थापना का
गिरती नैतिकता की उलाहना का या फिर नक़ल करने की प्रतिस्प्रधा का
चरित्र की अवहेलना का या फिर चरित्र में भ्रस्टाचार उक्त गुडों की लगन का
सामाजिक भेद-भाव का या फिर अवस्कता से अधिक अधिकार का
गुलामी को न भुलाने का या फिर व्र्हत भारत के टूट जाने का
अखंड भारत और अखंड समाज की परिकल्पना ही
सच्ची आजादी है, जय हिंद