There was an error in this gadget

Monday, September 29, 2014

मेरा क्या है
बचपन की चंचलता माँ के लिए,
विद्यार्थी जीवन गुरु को समर्पित|
वयस्क हूँ प्रेमिका के सृंगार कृत,
वृद्ध बनुंगा ईस्वर की भक्ति के लिए||
मेरा क्या है 
सीस माता-पिता,गुरु के सम्मान के लिए,
शारीर का कर्त्यव दूसरों की सेवा है|
पौरुष और वीरता करेंगे नारी धर्म,
नेत्र प्रकृति और सत्य दर्शन के लिए||
मेरा क्या है
छमा और करुणा शत्रु के लिए,
प्यार जीवन-संगिनी को समर्पित|
भविष्य को मिलेगीं हस्त रेखाएं, 
इच्छा मन की तृप्ति के लिए||
मेरा क्या है 
सदाचार और सन्स्कार पुत्र के लिए,
सहयोग हमेशा मित्र के साथ|
अतिथि को मिलेगा आदर और सत्कार,
ज्ञान और चिन्तन साहित्य को समर्पित
बचा प्राण जो यमराज के लिए||
मेरा क्या है 


डॉ तेज प्रताप सिंह

No comments:

Post a Comment