There was an error in this gadget

Monday, April 16, 2012

यादें

यादें जो रहती हैं मन में मेरे 
उन्ही यादों में..
कुछ भूल-भूल कर आती हैं,
तो कुछ ने अपनी ख़ास जगह बना रक्खी है  
उन्ही यादों में...
कुछ जो दे जाती हैं मुस्कुराहट होंठो पर 
तो कुछ करती हैं सोचने पर मजबूर 
उन्ही यादों में..
कुछ ऐसी जो आती हैं अकेले में 
तो कुछ किसी को देखने के बाद 
उन्ही यादों में..
कुछ जो संगीत में डूबने के बाद आती   
तो कुछ बारिश में भीगने के बाद 
उन्ही यादों में..
कुछ जो बचपन में खोई हैं 
तो कुछ जिंदगी की जद्दो-जहत में 
उन्ही यादों में..
कुछ कोस रही हैं अपने आप को 
तो कुछ दे जाती हैं आंसू आँखों में 
उन्ही यादों में..
कुछ भूल सुधारने को तैयार 
तो कुछ को समय बीत जाने का डर
उन्ही यादों में..
कुछ भाग्य को दोष दे रही हैं 
तो कुछ धन्यवाद की मुद्रा में 
उन्ही यादों में..
कुछ ने जीता है तकदीर को 
तो कुछ का हौसला अभी भी है बुलंद
उन्ही यादों में..
कुछ खड़ी हैं हाथ पकड़ कर 
जिंदगी का....
सच है,
यादें ही हैं जिन्दगी के सच्चे साथी 

No comments:

Post a Comment